Home ऐप्स Facebook vs Apple: एप्पल से चल रही लड़ाई के दौरान facebook ने...

Facebook vs Apple: एप्पल से चल रही लड़ाई के दौरान facebook ने उठाया ये बड़ा कदम

नई दिल्ली: Facebook और Apple दोनों ही टेक वर्ल्ड में बड़े इनोवेशन के नाम हैं। वहीं फेसबुक एप्पल की नई प्राइवेसी पॉलिसी का लगातार विरोध कर रहा है। इस बीच फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग और एप्पल के सीईओ टिम कुक आमने-सामने हैं। फिलहाल फेसबुक ने इस लड़ाई ने अपना एक कदम और आगे बढ़ा दिया है।

 

क्या है मामला?
एप्पल ने अपने एप स्टोर पर नई प्राइवेसी पॉलिसी जारी की हैं। इस पॉलिसी के तहत एप्पल के एप स्टोर पर मौजूद सभी एप्स को एप स्टोर पर अपने एप पब्लिश करने से पहले बताना होगा कि वे यूजर्स की कौन-कौन सी जानकारी कलेक्ट करेंगे। इसके साथ ही यह भी बताना होगा कि वे यूजर्स का कलेक्ट किया गया डाटा किस काम में इस्तेमाल करेंगे। अब से एप स्टोर पर पब्लिक किए जाने वाले एप्स को यह सभी जानकारी देनी जरूरी होंगी।

 

यूजर्स कर रहे हैं नई पॉलिसी को सपोर्ट
बता दें कि एप्पल की नई पॉलिसी को यूजर्स काफी फायदेमंद बता रहे हैं। यूजर्स का कहना है कि इस पॉलिसी से उन्हें यह पता चल जाएगा कि कौन सी ऐप उनका कौन सा डाटा कलेक्ट कर रही है और क्यों कर रही है ? इन सभी जानकारियों के बाद यह यूजर पर डिपेंड होगा की वे ऐप को डाउनलोड करें या नहीं। यह नई प्राइवेसी पॉलिसी एप्पल के इनहाउस एप्स पर भी लागू होगी।

 

Facebook ने जताया विरोध
लोकप्रिय मैसेंजिग ऐप फेसबुक Apple की नई प्राइवेसी पॉलिसी का विरोध कर रही है। इतना ही नहीं फेसबुक के साथ-साथ WhatsApp ने भी एप्पल की इस नई पॉलिसी पर आपत्ति जताई है। इस मु्द्दे पर व्हाटसऐप का कहना है कि थर्ड पार्टी ऐप के लिए न्यूट्रिशन लेबल है, लेकिन जो पहले से ही iPhone में इंस्टाल हैं उन एप्स का क्या होगा?

 

फेसबुक ने हयाया वेरिफिकेशन ब्लू टिक
Facebook और Apple की इस लड़ाई के चलते अब फेसबुक ने एक कदम बढ़ा दिया है। फेसबुक ने अब एप्पल का वेरिफिकेशन ब्लूटिक हटा दिया है। हलांकि इस बारे में कुछ खास नहीं कहा जा सकता की यह फैसला क्यों लिया गया है क्योंकि इंस्टाग्राम पर अभी भी एप्पल पर ब्लूटिक है।

Most Popular

Enable Notifications    OK No